इतिहास

ऐतिहासिक रूप से, बिलासपुर को रतनपुर के कल्चुरि राजवंश द्वारा नियंत्रित किया गया था। हालांकि, बिलासपुर शहर, मराठा साम्राज्य के शासनकाल में वर्ष 1741 के आसपास प्रमुखता से आया। बिलासपुर शहर लगभग 400 वर्ष पुराना है और “बिलासपुर” का नाम “बिलासा” नामक फिशर-महिला के नाम पर पड़ा है।

बिलासपुर जिला वर्ष 1861 में गठित किया गया और इसके बाद वर्ष 1867 में बिलासपुर नगर पालिका का गठन किया गया। बिलासपुर जिला न केवल छत्तीसगढ़ राज्य में प्रसिद्ध है बल्कि चावल की गुणवत्ता, कोसा उद्योग और इसकी सांस्कृतिक पृष्ठभूमि जैसी अनूठी विशेषताओं के कारण भारत में प्रसिद्ध है। पूरे छत्तीसगढ़ राज्य के लिए बिलासपुर जिले को “धान का कटोरा”  के नाम से जाना जाता है।