वृक्ष मित्र अभियान

बिलासपुर जिले में पर्यावरण संरक्षण, पर्यावरण जागरूकता एवं पर्यावरण संवर्धन की दिशा में विशेष कार्य किये जा रहें हैं। इस संबंध में जिले में वृक्षमित्र अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के द्वारा वृहद् पैमाने पर जिले में वृक्षारोपण के माध्यम से जन भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है। इसके अलावा जिले को मैंगो जिला बनाने के लिए आम के साथ-साथ अन्य फलदार पौधों का वृक्षारोपण जनभागीदारी से किया जा रहा है। जिले में तालाबों के मेढ़ पर और छोटे-बड़े झाड़ के रिक्त भूमि पर कलमी आम/लोकल आम लगाये जा रहे हैं। जिले के 75 ग्रामों का चयन आम्र ग्राम के रूप में किया गया है।

वृक्षमित्र अभियान

वृक्षमित्र समूह

पुरस्कार वितरण

नर्मदा नदी के उद्गम स्थल अर्थात् बिलासपुर से अमरकंटक तक मैंगो कारीडोर बनाया जा रहा है। विश्व पर्यावरण दिवस दिनांक 5 जून 2009 से कलेक्ट्रेट में लगभग 25 हजार पौधों का निःशुल्क वितरण किया गया है, जिसमें 16 हजार आम के पौधे शामिल हैं तथा माह सितम्बर तक फलदार पौधों का निःशुल्क वितरण किया जायेगा। इस वर्ष बिलासपुर जिले में आम का कुल रकबा 1490 हैक्टेयर में 1 लाख 26 हजार 3 सौ आम के पौधे लगाये जा रहे हैं। वृक्षारोपण वृहद पैमाने में किये गये। वृक्षारोपण की सुरक्षा घेरा बारबेटवायर फेंसिग और पानी की व्यवस्था हेतु बोरिंग किये गये है और देख-रेख के लिए वन एवं उद्यान विभाग के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है,और आने वाले समय में स्व-सहायता समूह को भी देखरेख के कार्यो में ट्री पट्टा नाम से एक अभिनव प्रयास के माध्यम से हर 10 वृक्षों के लिए एक व्यक्ति को जिम्मेदारी देने की योजना बनाई गई है।